s

वरिष्ठता निर्धारण नियम || Seniority determination rules

   2985   Copy    Share

वरिष्ठता निर्धारण नियम

विषय― मध्यप्रदेश सिविल सेवा (सेवा की सामान्य शर्तें) नियम, 1961 में संशोधन। मध्यप्रदेश सिविल सेवा (सेवा की सामान्य शर्तें) नियम, 1961 के नियम 12 में महत्वपूर्ण संशोधन किया गया है। संशोधन की समसंख्यक अधिसूचना दिनांक 2-4-98 सूचनार्थ एवं आवश्यक कार्यवाही हेतु संलग्न है। तत्संबंध में कृपया अपने अधीनस्थ को अवगत कराने का कष्ट करें।
[म.प्र. शा. सा.प्र.वि. क्रमांक सी. 3-84/92/3/1, दिनांक 20-4-1998]

नगरीय निकाय और पंचायत अध्यापक संवर्ग में नियुक्ति दिनांक (भूतलक्षी प्रभाव) से वरिष्ठता मान्य की जावेगी।
[म.प्र.शा.नग. प्रशा. एवं विकास वि. क्र. एफ/4-24/2013/ 18/1 दिनांक 20.2.2013 तथा म. प्र. शा. ग्रा. वि.वि. क्र. एफ 1-2/2013/22/4-2 दिनांक 21.02.2013]

सामान्य प्रशासन विभाग
मंत्रालय, वल्लभ भवन भोपाल
भोपाल, दिनांक 2 अप्रैल 1998
क्र. एफ. सी. 3-84-3-एक संविधान के अनुच्छेद 309 के परन्तुक द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए मध्यप्रदेश के राज्यपाल एतद्द्वारा मध्यप्रदेश सिविल सेवाएँ (सेवा की सामान्य शर्तें) नियम 1961 में निम्नलिखित संशोधन करते हैं अर्थात्―

संशोधन

उक्त नियमों में नियम 12 के लिए निम्नलिखित नियम प्रतिस्थापित किया जायेगा, अर्थात्―

12. वरिष्ठता― किसी सेवा या उस सेवा के पदों की वरीष्ठता निम्नलिखित सिद्धान्तों के अनुसार अवधारित की जावेगी, अर्थात्―

1. सीधी भर्ती किये गये तथा पदोन्नत हुए व्यक्तियों की वरिष्ठता

(क) नियमों के अनुसार, किसी पद पर सीधे नियुक्त किसी व्यक्ति की वरिष्ठता पदग्रहण की तारीख का विचार किये बिना, उस योग्यताक्रम के आधार पर अवधारित की जायेगी जिसमें नियुक्ति के लिए उनकी सिफारिश की गई है। पूर्ववर्ती चयन के परिणामस्वरूप नियुक्त व्यक्ति, पश्चातवर्ती चयन के परिणामस्वरूप नियुक्त व्यक्ति से वरिष्ठ होंगे।

(ख) जहाँ पदोन्नति किसी विभागीय पदोन्नति समिति द्वारा चयन के आधार पर की जाती हैं तो इस प्रकार पदोन्नत व्यक्तियों की वरिष्ठता उस क्रम में होगी, जिस क्रम में समिति द्वारा इस प्रकार पदोन्नत करने के लिए उनकी सिफारिश की जाती है।

(ग) जहाँ पदोन्नति अनुपयुक्त व्यक्तियों की अस्वीकृति (रिजेक्शन) के अध्यधीन वरिष्ठता के आधार पर की जाती हैं तो उसी समय पदोन्नति के लिए उपयुक्त पाये गये व्यक्तियों की वरिष्ठता वही होगी, जैसे कि उस निम्न संवर्ग के साक्षेप में वरिष् है, जिससे उनकी पदोन्नति की जाती है तथापि जहाँ किसी व्यक्ति को प के लिए अनुपयुक्त पाया जाता है तथा किसी कनिष्ठ व्यक्ति द्वारा अधिक्रमित किया जाता है तो ऐसे व्यक्ति की वरिष्ठता, यदि बाद में उपयुक्त है तथा पदोन्नत किया जाता है, उन कनिष्ठ व्यक्तियों पर उच्चतर संवर्ग में अवधारित नहीं की जायेगी, जिन्होंने उसे अधिक्रमित किया था।

(घ) किसी ऐसे व्यक्ति की वरिष्ठता, जिसका मामला विभागीय पदोन्नति समिति द्वारा वार्षिक चरित्रावलियों के अभाव में या अन्य कारणों से रोका गया किन्तु बाद में उस तारीख से पदोन्नति के लिए उपयुक्त पाया जाये, जिस तारीख को उससे कनिष्ठ व्यक्ति पदोन्नत किया गया था, चयन सूची में उसे तत्काल कनिष्ठ व्यक्ति की पदोन्नति की तारीख से या उस तारिख से, जिस तारीख को वह विभागीय पदोन्नति समिति द्वारा उपयुक्त पाया गया हो, अवधारित की जायेगी।

(ङ) भर्ती किये गये तथा पदोन्नति किये गये व्यक्तियों के बीच सापेक्ष वरिष्ठता नियुक्ति / पदोन्नति आदेश जारी किये जाने की तारीख के अनुसार अवधारित की जायेगी: परन्तु यदि कोई व्यक्ति उससे वरष्ठि व्यक्ति के पूर्व रोस्टर के आधार पर नियुक्त / पदोन्नत किया जाता है तो ऐसे व्यक्ति की वरिष्ठता समुचित प्राधिकारी द्वारा तैयार की गई योग्यता / चयन / उपयुक्त सूची के अनुसार अवधारित की जायेगी।

(च) यदि किसी सीधी भर्ती की परिवीक्षा की कालावधि या किसी पदोन्नत व्यक्ति की परीक्षण कालावपि विस्तारित की गई हो, तो नियुक्ति प्राधिकारी यह अवधारित करे कि क्या उसे वही वरिष्ठता दी जानी चाहिए जैसी कि उनको प्रदान की गई होती, यदि उसने परिवीक्षा/परीक्षण की सामान्य कालावधि सफलतापूर्वक पूर्ण कर ली होती या क्या उसे निम्न वरिष्ठता दी जानी चाहिए।

(छ) यदि सीधी भर्ती या पदोन्नति के आदेश एक ही तारीख को जारी होते हैं तो प्रोन्नत व्यक्ति सामूहिक रूप से (इनब्लॉक) सीधी भर्ती किये गये व्यक्ति से वरिष्ठ माने जायेंगे।

(2) स्थानांतरित व्यक्ति की वरिष्ठता

(क) राज्य शासन के एक विभाग से दूसरे विभाग में स्थानान्तर द्वारा नियुक्त व्यक्तियों की सापेक्ष वरिष्ठता ऐसे स्थानान्तरणों के लिए उनके चयन के क्रम के अनुसार अवधारित की जायेगी।

(ख) जहाँ कोई व्यक्ति सीधी भर्ती या पदोन्नति द्वारा उपयुक्त उम्मीदवारों की अनुपलब्धता होने पर ऐसे स्थानान्तरण के लिए उपबंधित भर्ती नियमों में उपबंधों के अनुसार नियुक्त किया गया हो, वहाँ ऐसा स्थानांतरित व्यक्ति, यथास्थिति सीधी भरती वाले व्यक्ति को पदोन्नत व्यक्ति के साथ समूहित किया जायेगा, तथा यथास्थिति, एक ही अवसर पर चयनित सभी सीधी भर्ती वाले व्यक्तियों या पदोन्नत व्यक्तियों से नीचे की श्रेणी में रखा जायेगा।

(ग) ऐसे व्यक्तियों के मामले में, जो आरम्भ में प्रतिनियुक्ति पर रखा गया हो तथा बाद में संविलियन (अर्थात् जहाँ संगत भर्ती नियमों में "प्रतिनियुक्ति पर स्थानांतरण / स्थानांतरण" की व्यवस्था हो) किया गया हो, ऐसे संवर्ग में जिसमें वह संविलियत किया गया हो, उसकी वरिष्ठता की गणना सामान्यतः उसके संविलियन की तारीख से की जावेगी यचापि यदि वह उसके मूल विभाग में नियमित आधार पर उसी या समकक्ष संवर्ग में पहले से ही (संविलियन की तारीख को) पद धारण कर रहा हो तो संवर्ग में ऐसी नियमित सेवा को भी उसकी वरिष्ठता निर्धारित करते समय, इस शर्त के अध्यधीन, ध्यान में रखा जायेगा कि उसे उस तारीख से वरिष्ठता दी जायेगी, जिसको वह प्रतिनियुक्ति पर पद धारण कर रहा था या उस तारीख को जिसको वह उसके वर्तमान विभाग में उसी या समकक्ष संवर्ग में नियमित आधार पर, जो भी बाद में हो, नियुक्त किया गया था।

स्पष्टीकरण तथापि उपयुक्त नियम के अनुसार स्थानांतरित व्यक्ति की वरिष्ठता के निधारण का ऐसे संविलियन की तारीख से पूर्व किये गये अगले उच्च संवर्ग (ग्रेड) में किन्हीं नियमित पदोन्नतियों पर प्रभाव नहीं पड़ेगा, दूसरे शब्दों में यह केवल ऐसे संविलियन के पश्चात् उच्च संवर्ग में होने वाली रिक्तियों को भरने पर लागू होगा।

(3) विशेष प्रकार के मामलों में वरिष्ठता

(क) ऐसे मामले में, जहाँ निम्न सेवा, संवर्ग या पद में कटौती की शास्ति शासकीय सेवक पर अधिरोपत की गई हो तथा ऐसी कटौती, विनिर्दिष्ट अवधि के लिए हो तथा यह भावी वेतन वृद्धियों को स्थगित करने के लिए लागू न की जानी हो, तो शासकीय सेवक की वरिष्ठता जब तक कि शास्ति के आदेश की शर्तें अन्यथा उपबंधित न करती हों, उच्च सेवा, संवर्ग या पद अथवा उच्च समय मान में उसी प्रकार निर्धारित की जा सकेंगी, जैसी कि उसकी कटौती न किये जाने की स्थिति में की गई होती।

(ख) ऐसे मामलों में कटौती, किसी विनिर्दिष्ट अवधि के लिए की जानी है तथा भावी वेतनवृद्धि को स्थगित करने के लिए की जानी हो, वहाँ पुर्नः पदोन्नति के संबंध में शासकीय कर्मचारी की वरिष्ठता, जब तक कि शास्ति के आदेश की शर्ते अन्यथा उपबंधित न करती हों, उच्च सेवा, संवर्ग या पद अथवा उच्च समयमान वेतन में या उसके द्वारा की गई सेवा की अवधि को ध्यान में रखते हुए, निर्धारित की जा सकेगी।

(ग) नये कार्यालय में अतिशेष कर्मचारी, उनकी वरिष्ठता के प्रयोजन के लिए पूर्व कार्यालय में की गई पिछली सेवा के लाभ के हकदार नहीं होंगे तथा ऐसे कर्मचारी, उनकी वरिष्ठता के मामले में नये प्रवेशार्थी के रूप में माने जायेंगे।

(घ) जब किसी कार्यालय में, विशिष्ट संवर्ग के दो या दो से अधिक अतिशेष कर्मचारियों को, किसी दूसरे कार्यालय में किसी संवर्ग में संविलियन के लिए अलग- अलग तारीखों में चयन किया जाता है तो दूसरे कार्यालय में उनकी पारस्परिक वही रहेगी, जो उनके पूर्व कार्यालय में थी, परन्तु यह कि―
(एक) इन तारीखों में उस संवर्ग में किसी व्यक्ति को सीधी भर्ती के लिए न चुना गया हो।
(दो) इन तारीखों में, उस संग में, किसी पदोन्नत व्यक्ति का नियुक्ति के लिए अनुमोद न किया गया हो।

(4) तदर्थ कर्मचारियों की वरिष्ठता

(क) तदर्थ आधार पर नियुक्त किसी व्यक्ति को उसकी सेवाओं को नियमित किये, कोई वरिष्ठता नहीं दी जावेगी।

(ख) यदि किसी व्यक्ति को भरती नियमों में दी गई प्रक्रिया का मूलतः अनुसरण करते। तदर्थ नियुक्ति दी जाती है और इस प्रकार नियुक्त व्यक्ति, नियमों के अनुसार सेवा में नियमित किये जाने तक लगातार पद पर बना रहता है तो उसकी वरिष्ठता के निर्धारण के लिए, स्थानापन्न सेवा की अवधि की गणना की जायेगी।

अध्यापक संवर्ग में संविदा शाला शिक्षकों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता देने के संबंध में।

विषयांतर्गत मध्यप्रदेश नगरीय निकाय अध्यापक संवर्ग (नियोजन एवं सेवा की शर्त) नियम, 2008 में संविदा शाला शिक्षकों के अध्यापक संवर्ग में नियुक्त करने का प्रावधान है। वर्तमान में संविदा शाला शिक्षकों को 3 वर्ष की सेवा पश्चात् नियम 2008 में दिए गए प्रावधान के अनुसार अध्यापक संवर्ग में नियमित किया जाता है। इस दृष्टि से संविदा शिक्षक का कार्य एक प्रकार से परिवीक्षाधीन का है इसके पश्चात् उसे अध्यापक संवर्ग में नियमित किया जाता है। संविदा शाला शिक्षकों को उनकी नियुक्ति दिनांक से अध्यापक संवर्ग में वरिष्ठता का लाभ पराधीन अवधि को मानते हुए किया जाता है। अध्यापक संवर्ग में संविदा शाला शिक्षक को नियुक्ति दिनांक से नियम में उल्लेखित अनुसार योग्यता एवं अन्य शर्तों को पूर्ति करने पर रिता का लाभ पदोन्नति एवं क्रमोन्नति के लिए प्राप्त होगा, जिसके लिए नियमों में भूत प्रभाव से संशोधन किया जाएगा।

दिनांक 2. यह निर्देश वित्त विभाग की टीप क्रमांक 357/404/2013/ नियम / चार, 20.02.2013 द्वारा दी गई सहमति के आधार पर जारी किये गये हैं।
[म.अ.शा. नग. प्रशा. एवं विकास विभाग क्र. एफ 4-24/2013/18-2 दि. 20.2.2013)

अध्यापक संवर्ग में संविदा शाला शिक्षकों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता देने के संबंध में।

विषयांतर्गत मध्यप्रदेश पंचायत अध्यापक संवर्ग (नियोजन एवं सेवा की शर्तें) नियम, 2008 में संविदा शाला शिक्षकों को अध्यापक संवर्ग में नियुक्ति करने का प्रावधान है। वर्तमान में संविदा शाला शिक्षकों को 3 वर्ष की सेवा पश्चात् नियम 2008 में दिए गए प्रावधान के अनुसार अध्यापक संवर्ग में नियमित किया जाता है। इस दृष्टि से संविदा शिक्षक का कार्यकाल एक प्रकार से परिवीक्षाधीन का है इसके पश्चात् उसे अध्यापक संवर्ग में नियमित किया जाता है। संविदा शाला शिक्षकों को उनकी नियुक्ति दिनांक से अध्यापक संवर्ग में वरिष्ठता का लाभ परिवीक्षाधीन अवधि को मानते हुए किया जाता है। अध्यापक संवर्ग में संविदा शाला शिक्षक को नियुक्ति दिनांक से नियम में उल्लेखित अनुसार योग्यता एवं अन्य शर्तों की पूर्ति करने पर वरिष्ठता का लाभ पदोन्नति एवं क्रमोन्नति के लिए प्राप्त होगा, जिसके लिए नियमों में भूतलक्षी प्रभाव से संशोधन किया जाएगा। यह आदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ली गई वित्त विभाग की सहमति टीप यू.ओ.क्र. 357/404/2013, दिनांक 20.02.2013 के अनुसरण में जारी किया गया है।
[म.प्र. शासन पंचा. एवं ग्रा.वि.वि. क्र. एफ. 1-2 /2013/22/4-2 दिनांक 21 फरवरी 2013]

जानकारी का स्रोत ― मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग का पत्र क्रमांक F 3-84/92/3/1 दिनांक 20 अप्रैल 1998 देखें। इस पत्र को नीचे दी गई लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं।

इस 👇 बारे में भी जानें।
ओलंपियाड प्रतियोगिता 2023-24 विस्तृत जानकारी

इस 👇 बारे में भी जानें।
एल्युमिनियम के बर्तनों के घातक परिणाम— इनमें मध्याह्न भोजन न पकाने के निर्देश

इस 👇 बारे में भी जानें।
प्राथमिक शिक्षक, खेल संगीत शिक्षक वरिष्ठता सूची

इस 👇 बारे में भी जानें।
समय विभाग चक्र अकादमिक वर्ष 2023-24

इस 👇 बारे में भी जानें।
base line test 2023-24

इस 👇 बारे में भी जानें।
नवीन शैक्षिक सत्र हेतु लोक शिक्षा संचनालय के दिशा निर्देश

इस 👇 बारे में भी जानें।
Aera Education Office की स्थापना

इस 👇 बारे में भी जानें।
मध्याह्न भोजन से संबंधित विस्तृत जानकारी

इस 👇 बारे में भी जानें।
स्कूल चले हम अभियान प्रथम चरण 2023-24

इस 👇 बारे में भी जानें।
शैक्षणिक सत्र 2023-24 की गतिविधियाँ। राज्य शिक्षा केंद्र का पत्र।

इस 👇 बारे में भी जानें।
1 जुलाई 2022 से प्लास्टिक के उत्पाद प्रतिबंधित - आदेश

इस 👇 बारे में भी जानें।
अतिथि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया।

इस 👇 बारे में भी जानें।
मोगली उत्सव 2022 के दिशा निर्देश

इस 👇 बारे में भी जानें।
कालिदास समारोह क्या है? प्रमुख प्रतियोगिताएँ एवं इनका आधार, सत्र 2022-23 में समारोह हेतु प्रमुख तिथियाँ

इस 👇 बारे में भी जानें।
बालिका आत्मरक्षा प्रशिक्षण - प्रमुख जानकारियाँ

इस 👇 बारे में भी जानें।
सत्र 2021-22 एवं 2022–23 हेतु गणवेश वितरण आदेश के महत्वपूर्ण 10 बिन्दु

इस 👇 बारे में भी जानें।
Class 1st and 2nd FLN Evaluation

इस 👇 बारे में भी जानें।
भाषा संगम कार्यक्रम क्या है? RSK पत्र

इस 👇 बारे में भी जानें।
एफ. एल.एन अंतर्गत कक्षा 3 के शिक्षकों हेतु ब्लॉक स्तरीय शिक्षक प्रशिक्षण आदेश

इस 👇 बारे में भी जानें।
महिला कर्मचारियों को 7.दिन का अतिरिक्त आकस्मिक अवकाश आदेश

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन (कक्षा 5 व 8) सत्र 2023-24 हेतु दिशा-निर्देश एवं महत्वपूर्ण जानकारी
2. ब्लूप्रिंट के आधार पर तैयार मासिक मूल्यांकन टेस्ट माह अगस्त 2023
3. अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन वर्ष 2023-24 कक्षा 1 से 4 एवं 6 से 7 हेतु RSK के दिशा-निर्देश व टाइम टेबल

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. जन शिक्षक के कार्य एवं उत्तरदायित्व
2. कर्मचारियों/शिक्षकों के सेवा काल की प्रमुख तिथियाँ
3. मध्यप्रदेश वेतन पुनरीक्षण नियम, 2017" के नियम किन कर्मचारियों पर लागू नहीं होते।
4. मप्र राज्य कर्मचारी गृहभाड़ा भत्ते की दरें।
5. शासकीय पत्रों एवं राजकाज में प्रयुक्त कठिन पारिभाषिक शब्दों के अर्थ
6. शिक्षा सत्र 2022 23 की गतिविधियां आर. एस. के. निर्देश
7. जानिए आपके जिले की शिक्षा के क्षेत्र में क्या है रैंकिंग
8. शिक्षकों की वरिष्ठता कब प्रभावित होती है
9. कर्मचारियों के लिए आदर्श आचरण संहिता के मुख्य बिंदु।
10. Date of birth (जन्मतिथि) अंग्रेजी शब्दों में कैसे लिखें।
11. विद्यालय Udise कैसे भरें
12. शासकीय कर्मचारियों को अनुकंपा नियुक्ति के अलावा मिलने वाली सुविधाएँ।
13. अशासकीय विद्यालय में क्रीड़ा शुल्क केवल 40% भाग रहेगा- निर्देश
14. मध्य प्रदेश योग आयोग का गठन

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. विभागीय जाँच निलम्बन एवं निलम्बन से बहाली प्रक्रिया
2. मोटर कारों पर तिरंगा फहराने का विशेषाधिकार किन्हें है?
3. समयमान वेतन एवं क्रमोन्नत वेतनमान
4. न्यू पेंशन स्कीम नियमावली।
5. पेंशन से आशय।
6. अवकाश के प्रकार एवं अवकाश हेतु पात्रता।

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. नियुक्ति में प्राथमिकता एवं आयु सीमा में छूट
2. विद्यालयों में शिक्षक छात्र अनुपात
3. कर्मचारियों हेतु गृह भाड़ा भत्ता से संबंधित संपूर्ण जानकारी।
4. एकीकृत शाला निधि (Composite school grant) वर्ष 2022-23
5. एण्डलाइन टेस्ट 2022_23 महत्वपूर्ण बिंदु।
6. अनुकंपा नियुक्ति के लिए पात्रता एवं अपात्रता

इन प्रकरणों 👇 के बारे में भी जानें।
1. स्थानान्तरण नीति 2022
2. ऑनलाइन अटेंडेंस सिस्टम से लगेगी हाजिरी
3. हाथ धुलाई दिवस- हाथ धोने के प्रमुख स्टेप्स
4. अर्द्धवार्षिक एवं वार्षिक परीक्षा 2022 23 का स्वरूप - महत्त्व बिंदु
5. 5th 8th परीक्षा पंजीकरण संशोधित तिथियाँ
6. प्राथमिक शिक्षक वरिष्ठता सूची 2023-24
7. शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 की प्रमुख धाराएँ
8. राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 आधारभूत सिद्धांत एवं विजन

इस 👇 बारे में भी जानें।
1. कैशबुक लिखने का तरीका जानें।
2. खाता बही किसे कहते हैं?
3. स्टॉक (भण्डारण) पंजी कितने प्रकार की होती है?
4. नया स्टॉक रजिस्टर कैसे बनायें?
5. सामग्री प्रभार पंजी कैसे बनाते हैं?
6. विद्यालय अभिलेख प्रमुख पंजिकायें

इस 👇 बारे में भी जानें।
1. उधार राशि या उधार सामग्री का उल्लेख कैशबुक में कैसे करें?
2. दाखिल खारिज रजिस्टर का लेखन कैसे करें
जन्मतिथि रजिस्टर के लेखन में ध्यान देने योग्य बातें।
4. विद्यालयों में क्रय की प्रक्रिया क्या है?
5. मुख्यालय त्याग पंजिका - विद्यालय के लिए क्यों आवश्यक है? प्रमुख कॉलम
6. अवकाश लेखा रजिस्टर कैसे तैयार करें?
7. विद्यालय का 'पुस्तक इस्यू रजिस्टर' कैसे तैयार करें
8. एम शिक्षा मित्र के अनुसार विद्यालय में रिकॉर्ड संधारण

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
edudurga.com

Download the above referenced information
(उपरोक्त सन्दर्भित जानकारी को डाउनलोड करें।)
Click here to downlod

Comments

POST YOUR COMMENT

Recent Posts

उचित मूल्य पर पुस्तक-कापियाँ, यूनिफॉर्म, एवं अन्य सामग्रियों हेतु सत्र 2024-25 में पुस्तक मेले का आयोजन हो सकता है।

1st अप्रैल 2024 को विद्यालयों में की जाने वाली गतिविधियाँ | New session school activities.

Solved Model Question Paper | ब्लूप्रिंट आधारित अभ्यास मॉडल प्रश्न पत्र कक्षा 8 विषय- सामाजिक विज्ञान (Social Science) | वार्षिक परीक्षा 2024 की तैयारी

Subcribe