s

नवीन शैक्षणिक सत्र हेतु लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा दिशा-निर्देश जारी || New academic year information of Lok shikshan sanchnalaya

   957   Copy    Share

लोक शिक्षण संचालनालय, मध्यप्रदेश भोपाल के पत्र क्रमांक / अकादमिक / 2023-24 / 1385 भोपाल, दिनांक 30/06/2023 के अनुसार नवीन शैक्षणिक सत्र हेतु दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं। पत्र में कहा गया है कि―
शासन द्वारा स्कूल चलें हम अभियान 2023-24 प्रथम चरण हेतु निर्देश जारी किए गए हैं। स्कूल चलें हम अभियान 2023-24 प्रथम चरण निर्देशों में बिन्दु क्र. 4 के परिप्रेक्ष्य में हाई एवं हायर सेकेण्ड्री विद्यालयों में निम्नानुसार कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करने को कहा गया है―

1. शैक्षणिक कैलेण्डर की गतिविधियों का कियान्वयन―

(a) कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक की कक्षाओं में अकादमिक, सह-अकादमिक एवं पाठ्येतर गतिविधियों के क्रियान्वयन हेतु संचालनालय द्वारा शैक्षणिक कैलेण्डर सत्र 2023-24 जारी किया जाकर विमर्श पोर्टल पर अपलोड किया गया है। शैक्षणिक कैलेण्डर की हार्ड कॉपी भी आपके विद्यालय में भेजी जा रही है कैलेण्डर में उल्लेखित समस्त गतिविधियाँ कराया जाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।

(b) शैक्षणिक कैलेण्डर में मासिक, त्रैमासिक अर्द्धवार्षिक, बोर्ड परीक्षा पूर्व अभ्यास एवं वार्षिक परीक्षाओं की संभावित तिथियाँ दर्शायी गई है, जिसके आधार पर कैलेण्डर में माहवार एवं इकाईवार पाठ्यक्रम वर्णित किया गया है, को विद्यालय के समस्त शिक्षकों को उपलब्ध कराया जाकर तद्नुसार अध्यापन कार्य कराये जाने को कहा गया है।

2. ब्रिज कोर्स का संचालन―

कक्षा 9 वीं के विद्यार्थियों में हिन्दी, अंग्रेजी एवं गणित विषयों की दक्षता स्तर में सुधार करने के लिए ब्रिज कोर्स संचालन हेतु संचालनालय के पत्र क्रमांक / आर.एम.एस.ए./ ब्रिज कोर्स / 2023 / 1109 भोपाल, दिनांक 16.06.2023 द्वारा विस्तृत निर्देश जारी किए गए हैं। विद्यार्थी के विद्यालय में प्रवेश लेते ही बेसलाइन टेस्ट का आयोजन किया जावे। तत्पश्चात् शैक्षणिक कैलेण्डर में उल्लेखित विषयवस्तु अनुसार ब्रिज कोर्स का आयोजन दिनांक 22.06.2023 से 31.07.2023 तक कराकर एंडलाइन टेस्ट (त्रैमासिक परीक्षा) का आयोजन किया जाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।

3. सतत् एवं व्यापक अधिगम एवं मूल्यांकन―

विद्यार्थियों में 21 वीं सदी के कौशलों (चिंतनशील सोच, रचनात्मकता, सहयोगात्मकता एवं संवाद कौशल) को विकसित करने एवं विभिन्न प्रकार की पाठ्य सहगामी गतिविधियों में विद्यार्थियों की सहभागिता हेतु प्रदेश के हाईस्कूलों एवं हायर सेकेण्ड्री स्कूलों में प्रत्येक शनिवार के प्रथम 3 कालखण्डों में बालसभा का आयोजन किये जाने को कहा गया है। बालसभा आयोजन के विस्तृत निर्देश शैक्षणिक कैलेण्डर में उपलब्ध कराये गए हैं। इस संबंध में प्रदेश के समस्त शासकीय हाईस्कूलों एवं हायर सेकेण्ड्री स्कूलों के प्राचार्य एवं शिक्षकों के लिए सतत् एवं व्यापक अधिगम एवं मूल्यांकन (Continuous and Comprehensive Learning and Evaluation) गतिविधियों का राज्य एवं जिला स्तरीय प्रशिक्षण आयोजित किया जा चुका है, तद्नुसार माह जुलाई से जनवरी तक बालसभा हेतु शैक्षणिक कैलेण्डर में उपलब्ध विषयवार थीम अनुसार गतिविधियाँ एवं मूल्यांकन किया जाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।

4. प्राचार्य चार्टर का क्रियान्वयन―

विद्यालय में विभिन्न गतिविधियों के समयबद्ध एवं सुव्यवस्थित संचालन हेतु शैक्षणिक कैलेण्डर के माध्यम से प्राचार्य चार्टर में उल्लेखित कार्यों एवं स्कूल शिक्षा विभाग की विभिन्न योजनाओं का समय सीमा में क्रियान्वयन सुनिश्चित किये जाने को कहा गया है।

5. विद्यालय समय सारणी―

शैक्षणिक कैलेण्डर के माध्यम से विद्यालय की आदर्श समय सारणी जारी की गई है तद्नुसार सभी विषयों के कालखण्डों के साथ-साथ स्काउट गाइड, रेडक्रॉस एन.एस.एस., एन. सी.सी., ईको क्लब, जीवन कौशल शिक्षा, उमंग, स्कूल हैल्थ एण्ड वैलनेस कार्यक्रम पुस्तकालय, खेल, योग एवं फिट इंडिया मूवमेंट की गतिविधियाँ अनिवार्य रूप से कराया जाना सुनिश्चित किये जाने को कहा गया है।

6. पाठ्य सहगामी गतिविधियों का आयोजन―

विद्यार्थियों को उनके जीवन में आने वाली विभिन्न चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करने, अंतर्निहित क्षमताओं के प्रकटीकरण एवं बहुमुखी प्रतिभा के विकास में पाठ्य सहगामी गतिविधियों की महती उपयोगिता रहती हैं, इस हेतु विभिन्न गतिविधियाँ जैसे― कला उत्सव, बालरंग, कालिदास संस्कृत समारोह, मोगली बाल उत्सव, वीर बाल दिवस, राष्ट्रीय युवा दिवस, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, शिक्षक दिवस, बाल दिवस, स्कूल बैंड प्रतियोगिता, विज्ञान मेला, मतदाता दिवस, राष्ट्रीय एकता की गतिविधियों का शैक्षणिक कैलेण्डर में दिए विवरण अनुसार विद्यालय में आयोजन किया जाकर अधिकाधिक विद्यार्थियों को भाग लेने का अवसर प्रदान किया जाये तथा चयनित छात्रों की विकासखण्ड, जिला, संभाग एवं राज्य / राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में सहभागिता सुनिश्चित कराये जाने को कहा गया है।

7. प्रार्थना सभा का आयोजन―

शैक्षणिक कैलेण्डर में भारत के महापुरुषों की जयंती / पुण्यतिथि एवं अन्य महत्वपूर्ण दिवसों की जानकारी दी गई है, तद्नुसार उक्त संबंध में प्रार्थना सभा में जानकारी दी जाकर निर्देश अनुसार आयोजन सुनिश्चित करने को कहा गया है। प्रार्थना सभा में आज का कैलेण्डर / पंचांग, राष्ट्रगान, प्रतिज्ञा, समाचार वाचन, जन्मदिन अभिनंदन, सूचनाएँ, पी. टी. / एरोबिक्स, मध्यप्रदेश गान एवं राष्ट्रगीत का आयोजन प्रतिदिवस किये जाने को कहा गया है।

8. सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों (UJHV.) की गतिविधियों का आयोजन–

सी.एम. राईज विद्यालयों एवं जिला उत्कृष्ट विद्यालयों में सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों की गतिविधियों को प्रारंभ किया गया है। इस संबंध में संचालनालय के पत्र क्रमांक/अकादमिक / U.H.V./प्रशिक्षण / 2023 / 1279 भोपाल, दिनांक 22.06.2023 द्वारा विस्तृत निर्देश जारी किए गए हैं तद्नुसार U. H. V. की गतिविधियों का कराया जाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।

स्रोत ― उक्त जानकारी का स्रोत लोक शिक्षण संचनालय मध्य प्रदेश भोपाल का पत्र क्रमांक / अकादमिक / 2023-24 / 1385 भोपाल, दिनांक 30/06/2023 है।

इस 👇 बारे में भी जानें।
1. कैशबुक लिखने का तरीका जानें।
2. खाता बही किसे कहते हैं?
3. स्टॉक (भण्डारण) पंजी कितने प्रकार की होती है?
4. नया स्टॉक रजिस्टर कैसे बनायें?
5. सामग्री प्रभार पंजी कैसे बनाते हैं?

इस 👇 बारे में भी जानें।
1. उधार राशि या उधार सामग्री का उल्लेख कैशबुक में कैसे करें?
2. दाखिल खारिज रजिस्टर का लेखन कैसे करें
जन्मतिथि रजिस्टर के लेखन में ध्यान देने योग्य बातें।
4. विद्यालयों में क्रय की प्रक्रिया क्या है?
5. मुख्यालय त्याग पंजिका - विद्यालय के लिए क्यों आवश्यक है? प्रमुख कॉलम
6. अवकाश लेखा रजिस्टर कैसे तैयार करें?
7. विद्यालय का 'पुस्तक इस्यू रजिस्टर' कैसे तैयार करें
8. एम शिक्षा मित्र के अनुसार विद्यालय में रिकॉर्ड संधारण

हिन्दी भाषा एवं व्याकरण के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।।
1. 'स्रोत भाषा' एवं 'लक्ष्य भाषा' क्या होती है? इनकी आवश्यकता एवं प्रयोग
2. दुःख, दर्द, कष्ट, संताप, पीड़ा, वेदना आदि में सूक्ष्म अंतर एवं वाक्य में प्रयोग
3. झण्डा गीत - झण्डा ऊँचा रहे हमारा।
4. घमण्ड, अहंकार, दम्भ, दर्प, गर्व, अभिमान, अहम् एवं अहंमन्यता शब्दों में सूक्ष्म अंतर एवं वाक्य में प्रयोग

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।।
1. अभी क्षमता का अर्थ एवं इसके प्रकार

2. बच्चों की सफलता के सूत्र

इन 👇एतिहासिक महत्वपूर्ण प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. भारत देश का नामकरण और इसकी सीमाएँ
2. मध्यप्रदेश के आदिवासी क्रान्तिकारियों का भारत की स्वतन्त्रता में योगदान
3. 1857 की क्रान्ति के पश्चात् भारतीय राष्ट्रीय चेतना का उदय और उसके सहायक तत्व
4. बौद्धकालीन भारत के विश्वविद्यालय - तक्षशिला, नालंदा, श्री धन्यकटक, ओदंतपुरी विक्रमशिला विश्वविद्यालय

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
edudurga.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Recent Posts

उचित मूल्य पर पुस्तक-कापियाँ, यूनिफॉर्म, एवं अन्य सामग्रियों हेतु सत्र 2024-25 में पुस्तक मेले का आयोजन हो सकता है।

1st अप्रैल 2024 को विद्यालयों में की जाने वाली गतिविधियाँ | New session school activities.

Solved Model Question Paper | ब्लूप्रिंट आधारित अभ्यास मॉडल प्रश्न पत्र कक्षा 8 विषय- सामाजिक विज्ञान (Social Science) | वार्षिक परीक्षा 2024 की तैयारी

Subcribe